बहराइच भौतिकी के नवाचारी प्रयोग पर सम्पन्न हुई 04 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


बहराइच विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार एवं वालेन्ट्री इंस्टीट्यूट फार कम्यूनिटी अपलाइड साइंस ‘‘विकास’’ इलाहाबाद के संयुक्त तत्वावधान भानीरामका अतिथि भवन में आयोजित 04 दिवसीय गतिविधि आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने कहा कि यदि शिक्षकों भौतिकी के कान्सेप्ट/आधारभूत अवधारणायें स्पष्ट हों तो विज्ञान को सरल एवं लोकप्रिय बनाना आसान होगा।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चों की तार्किक क्षमता में विकास करना है। कार्यक्रम में मौजूद प्रशिक्षणार्थियों का जिलाधिकारी ने आहवान किया कि किसी भी विषय को समझने के लिए उसके कान्सेप्ट को समझना अत्यन्त ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि हमें किताबों के साथ-साथ अपने आस-पास के माहौल को भी भली प्रकार से समझना होगा। उन्होंने कहा कि व्यवहारिक ज्ञान को किताबों के माध्यम से प्राप्त नहीं किया जा सकता है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कार्यशाला के संयोजक डा. सत्येन्द्र कुमार सिंह व प्रमुख प्रशिक्षक मनीष कुमार ने बताया कि बच्चों एवं शिक्षकों में भौतिकी जैसे गूढ़ विषय के प्रति अभिरूचि पैदा करने के उद्देश्य से 04 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया िकइस अवसर पर लनपद बस्ती, श्रावस्ती, गोण्डा, फैज़ाबाद, बलरामपुर एवं बहराइच के 19 विद्यालयों के 25 शिक्षक एवं 50 विद्यार्थियों द्वारा सक्रिय सहभागिता की गयी है। कार्यक्रम के अन्त में मुख्य अतिथि जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले प्रत्येक स्कूल एवं बच्चों को गतिविधि किट एवं प्रमाण-पत्र वितरित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *