निर्माणाधीन परियोजनाओं का स्थलीय भ्रमण करते हुए गुणवत्ता सुनिश्चित की जाएः कमिश्नर


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


धर्मेन्द्र सिंह राघव

अलीगढ़। मण्डलायुक्त अजय दीप सिंह ने आज यहां कमिश्नरी सभागार में 50 लाख रूपये से अधिक लागत की सड़क परियोजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना एवं अन्य निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा में कार्यदायी संस्थाएं- लोक निर्माण, सिंचाई विभाग, आवास-विकास, उ0प्र0 जल निगम निर्माण, सेतु निगम, पैक्सपैड आदि द्वारा मण्डल में चल रहे निर्माण कार्यो सड़क निर्माण, सरकारी भवन, शेल्टर होगा, आसरा योजना के तहत आवासीय भवन, सरकारी आवासीय भवन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, आधुनिक पोस्टमार्टम हाउस, राजकीय इंटर कौलेज, कम्प्यूटर कक्ष, न्यायाधीश आवास, डीएम कार्यालय, महामाया आईटी व आईआईटी पॉलिटैक्निक, बस स्टैण्ड, गौशाला, नहर एवं सेतु निर्माण आदि परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि जो योजनाएं पूर्ण हो गयी हैं उन्हें शीघ्र सम्बन्धित विभाग को हैण्डओवर करने की कार्यवाही एक सप्ताह में पूर्ण कर ली जाए। उन्होंने कहा कि जो परियोजनाएं गत अक्टूबर 2018 में पूर्ण होने वाली थीं और उनमें कुछ कार्य शेष रह गये हैं उसे माह नवम्बर तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कर लिया जाए। जिन परियोजनाओं का आगणन रिवाइस कराया गया है धनराशि अवमुक्त कराने हेतु जिलाधिकारी के माध्यम से शासन को पत्र निर्गत कराया जाए। जहां धनराशि उपलब्ध है, कार्यो में तेजी लाकर उसे समय से पूरा करें। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश देते हुए कहा कि जिन परियोजनाओं में भूमि हस्तानांतरण या अन्य कोई विवाद हो उन मामलों में जिलाधिकारी को संज्ञान में लाते हुए बाधाओं को दूर कर निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां सेतु  निर्माण कार्य पूर्ण हो गये है पीडब्लूडी विभाग शीघ्र सम्पर्क मार्ग तैयार कर पूरा करे ताकि लोगों को शीघ्र इसका लाभ मिल सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि अधिकारी निर्माणाधीन कार्यो का समय-समय पर निरीक्षण करते हुए निरीक्षण आख्या जारी कर उसका अनुपालन सुनिश्चित कराएं। निर्माणाधीन कार्यों में किसी भी दशा में गुणवत्ता से समझौता नहीं होना चाहिए यह सुनिश्चित किया जाए।