वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज प्रस्तुत करने पर भी मिलेगी मताधिकार की अनुमति


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


राजनांदगांव 06 नवम्बर 2018। भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली के निर्देशानुसार विधानसभा आम निर्वाचन 2018 के अंतर्गत मतदान के दौरान मतदाता द्वारा निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किए गये निर्वाचक फोटो पहचान पत्र नहीं प्रस्तुत कर पाने की स्थिति में निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित किए गये वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज प्रस्तुत करने पर उन्हें अपना मत डालने की अनुमति दी जाएगी। ज्ञातव्य हो कि निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा के आगामी साधारण निर्वाचन के लिए मतदाताओं को निर्वाचक फोटो पहचान पत्र जारी किए गये हैं। मतदाता मतदान केन्द्र पर मत डालने से पहले अपनी पहचान सुनिश्चित करने से पहले अपना निर्वाचन फोटो पहचान पत्र दिखाएंगे। ऐसे निर्वाचक जो अपना निर्वाचक फोटो पहचान पत्र प्रस्तुत नहीं कर पाते है। उन्हें अपनी पहचान स्थापित करने के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज प्रस्तुत करना पड़ेगा। निर्वाचन आयोग द्वारा पासपोर्ट, ड्राइविंग लाईसेंस, राज्य पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, केन्द्र सरकार/अपने कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, बैंकों -डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटोयुक्त पासबुक, पैन कार्ड, आरजीआई एवं एनपीआर द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पैंशन दस्तावेज, निर्वाचन आयोग द्वारा जारी प्रमाणित फोटो मतदाता पर्ची, सांसदों-विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गये सरकार पहचान पत्र, आधार कार्ड को वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज के रूप में निर्धारित किया गया है। निर्वाचक को अपने मताधिकार के प्रयोग के समय निर्वाचक फोटो पहचान पत्र नहीं होने की स्थिति में इसमें से किसी एक वैकल्पिक दस्तावेज प्रस्तुत करने पर उन्हें मत डालने की अनुमति दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *