गिर्राज धरण, मैं तेरी शरण, घर-घर विराजे श्री गोबर्धन महाराज


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


अलीगढ़ ब्यूरो

आज दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन का पर्व पूरे महानगर में हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाया गया। सभी घरों में गोबर के गिर्राज बनाकर उनकी पूर्जा अर्चना करके उन्हें भोग लगाया गया सैकड़ों स्थान पर अन्नकूट के भण्डारे भी आयोजित किये गये। लोगों द्वारा घर में गोबर से गोबर्धन महाराज बनाए गए और उनकी पूजा अर्चना कर परिक्रमा दी गयी  इस दिन बली पूजा, अन्नकूट, मार्ग पाली आदि उत्सव भी संपन्न होते हैं अन्नकूट या गोवर्धन पूजा भगवान श्री कृष्ण के अवतार के बाद द्वापर युग से प्रारंभ हुई । श्री वार्ष्णेय मंदिर में गौ माता का पूजन किया गया। साथ ही ठाकुर जी का भोग लगाया गया । दोपहर में कड़ी एवं भात एवं अन्नकूट का प्रसाद व्यवस्थित ढंग से भक्तों को प्रदान किया गया सांय काल मंदिर प्रांगन में की गयी सजावट में  गोवर्धन जी महाराज अपने विराट रूप में भक्तों को दर्शन दे रहे थे।इस अवसर प राधेश्याम गुप्ता स्क्रेप वाले, मंदिर महंत  मनोज मिश्रा, पुखराज सराफ, एल डी वार्ष्णेय ,  इंद्र कुमार तेल वाले ,शहर विधायक संजीव राजा ,छर्रा विधायक ठा0 रवेंद्र पाल सिंह ,पूर्व महापौर सावित्री वार्ष्णेय , राजेंद्र जी पीतल वाले, गुलाबचंद सुपारी वाले, संजीव वैभव,डॉ मुकेश कुमार, मनोज काका, पार्षद अलका गुप्ता ,योगेश वार्ष्णेय बंटी , सुभाष शीरा आदि उपस्थित थे।शक्तिनगर स्थित गर्ग परिवार में गोवर्धन महाराज की  पूजा अर्चना की गयी। जिसमें पूरे परिवार की चार पीडियों  गोवर्धन बाबा की जय के उद्घोष के साथ गोवर्धन बाबा की परिक्रमा की।