राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए पं. दामोदर प्रसाद त्रिपाठी जी को


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


छुईखदान से मनोज राठौर की रिपोर्ट
राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए पं. दामोदर प्रसाद त्रिपाठी
छुईखदान, 29 नवंबर (सबेरा संकेत)। नगर के प्रख्यात स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं. दामोदर प्रसाद त्रिपाठी का आज राजकीय सम्मान के साथ यहां अंतिम संस्कार किया गया। सैकड़ों पुरनम आंखों ने आज स्व. त्रिपाठी को अंतिम विदाई दी।

स्व. दामोदर प्रसाद त्रिपाठी की अंतिम यात्रा आज पूर्वान्ह 11 बजे ब्राह्मण पारा स्थित उनके निवास स्थान से निकली। शवयात्रा मेंं बड़ी संख्या में स्वजन, परिजन एवं गणमान्य नागरिक शामिल हुए। स्थानीय मुक्तिधाम में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की ओर से स्व. त्रिपाठी को गार्ड आफ ऑनर दिया गया तथा पार्थिव शरीर को तिरंगे से लपेट कर श्रद्धांजलि स्वरूप पुष्प चक्र भेंट किया गया। तत्पश्चात अंतिम संस्कार का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। मुखाग्नि उनके सुपुत्र निशीकांत त्रिपाठी ने दी।
अंतिम संस्कार के उपरांत मुक्तिधाम में शोकसभा का आयोजन किया गया। शोक सभा को संबोधित करते हुए विधायक गिरवर जंघेल ने श्री त्रिपाठी के निधन को अंचल की अपूरणीय क्षति निरूपित किया। उन्होंने कहा कि श्री त्रिपाठी के निधन से ब्लाक कांग्रेस कमेटी छुईखदान ने अपना प्रेरणास्त्रोत और मार्गदर्शक खो दिया। पूर्व विधायक और संसदीय सचिव कोमल जंघेल ने कहा कि अनेक मंचों पर उन्हें श्री त्रिपाठी का स्नेहपूर्ण सानिध्य प्राप्त हुआ था। जब मंच से उनका सम्मान होता था तो अनायास हमारा भी सीना चौड़ा हो जाता था। उनकी कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकता। शोकसभा का संचालन अधिवक्ता मनोज चौबे ने किया। इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी हेमंत मत्स्यपाल, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस श्री नायक, तहसीलदार प्रीतम साहू एवं थाना प्रभारी छुईखदान सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। ज्ञातव्य है कि कल 28 नवंबर को श्री त्रिपाठी का 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।