मतगणना के दिन जिला प्रशासन रहेगा चौंकस – एसपी सिंह

असामाजिक तत्वों पर रहेगी विशेष नज़र
हरदा । हरदा जिले मे विधानसभा चुनाव को लेकर जिला प्रशासन पूर्णत: सतर्क रहेगा । इस संबंध मे जिला पुलिस अधिक्षक राजेश कुमार सिंह ने चौथासंसार को बताया कि जिला प्रशासन मतगणना के लिए पूरी तरह तैयार है हर जगह पाइंट बनाये जायेंगे कहीं कोई कोताही नहीं बरती जायेगी । पुलिस अधीक्षक सिंह ने बताया कि 11 दिसंबर को बाहर से भी फोर्स बुलाया गया है साथ ही जगह जगह पांइट बनाये गये है ।जिला प्रशासन की आसामाजिक तत्वों पर विशेष नज़र रहेगी । क्यूआरटी टीम पूरी तरह सक्रिय रहेगी साथ ही पुलिस हरदा शहर सहित जिले मे पेट्रोलियम करेगी ।
जिला पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने आमजन को विश्वास दिलाया है कि शहर मे शान्ति के साथ मतगणना कार्य संपन्न होगा एवं सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये है । अफवाहों पर ध्यान ना दे । विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान की मतों की गणना 11 दिसंबर  को पालीटेक्निक में की जायेगी। मतगणना ठीक सुबह 08 बजे प्रारंभ की जायेगी। मतगणना की व्यापक तैयारियां जारी हैं। मतगणना दलों के गठन की प्रक्रिया भी प्रांरभ कर दी गई हैं।

   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी  एस विश्वनाथन ने बताया कि मतदान में प्रयुक्त की गई ईवीएम तथा वीवीपेट और डाक मतपत्र कड़े सुरक्षा प्रबंधों के साथ पालीटेक्निक में बनाये गये स्ट्रांग रूम में रखें गये हैं। उन्होने बताया कि पारदर्शी रूप से मतो की गणना के लिए व्यापक इंतजाम किये जा रहें हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री बीएल कोचले के अनुसार तैयारियों की रूपरेखा को अंतिम रूप दिया जा रहा हैं। प्रारंभिक रूप से तय किया गया है कि पालीटेक्नीक में हाल और कमरों में विधानसभा क्षेत्रवार मतगणना होगी। विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना के लिए 14-14 टेबलें लगाई जायेगी। इन टेबलों पर एक सुपरवाइजर तथा एक मतगणना सहायक रहेगा। हर टेबल के लिए माइक्रो आवजर्बर भी रहेगें। इस तरह प्रत्येक टेबल के लिए तीन-तीन कर्मचारी रहेगें। मतगणना दलों के गठन की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई हैं।

   मतगणना के लिए नियुक्त कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। डाक मतपत्रों की गणना के लिए अलग से टेबलें लगाई जायेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार विधानसभा क्षेत्र हरदा में 20 राउंड में मतों की गणना की जायेगी। इसी तरह विधानसभा क्षेत्र टिमरनी में 18 राउंड में मतों की गणना होगी।

   मतगणना के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने पारदर्शी, निष्पक्ष और स्वतंत्र नीति तैयार की है। यह भी तय किया गया है कि प्रशासकीय तंत्र से कोई चूक न हो इसके लिए बेहतर और पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वोट गिनने में जिस अमले को तैनात किया जाएगा उसकी निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए कर्मचारियों का रेंडमली चयन किया जाएगा। इस तरीके (रेंडमाइजेशन)के चलते किसी कर्मचारी को आखिरी समय तक यह मालूम नहीं हो सकेगा कि उसकी ड्यूटी किस टेबिल पर लगेगी। कुल 120 कर्मचारी मतगणना करेगें। पहले पोस्टल बैलेट की गणना होगी । बाद में ईवीएम से गणना होगी।
*हरदा से मुईन अख्तर खान*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *