बहराइच राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारित हुए 7598 वाद/प्रकरण


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


बहराइच  मा. सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशन में जनपद न्यायाधीश उपेन्द्र कुमार के कुशल नेतृत्व में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बहराइच के तत्वावधान में दीवानी न्यायालय परिसर मंे आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के अवसर पर 7598 वादों का निस्तारण किया गया। निस्तारित वादों/प्रकरणों में सम्मनीय अपराधिक वाद के 2766 वाद, मोटर दुर्घटना प्रतिकर याचिकाओं के 12 वाद, पारिवारिक/वैवाहिक विवाद के 55 वाद, अन्य सिविल वाद 12, अन्य प्रकृति 39, राजस्व के 1502 वाद निस्तारित किये गये। यह जानकारी देते हुए अपर जनपद न्यायाधीश (एफ.टी.सी.)/नोडल अधिकारी लोक अदालत अमित कुमार पाण्डेय ने बताया कि प्री-लिटिगेशन/बैंक वसूली के 984 मामलों का निस्तारण आपसी सुलह समझौता के आधार पर किया गया। निस्तारित वादों एवं प्री-लिटिगेशन बैंक वसूली के सेटलमेन्ट की कुल धनराशि रू. 03 करोड़ 33 लाख 65 हज़ार 605 है। राष्ट्रीय लोक अदालत में इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक द्वारा 581 मामलों के सेटेलमेन्ट की धनराशि 03 लाख 55 हज़ार 535 व इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक आर.ओ. भिनगा, बहराइच द्वारा 2569 मामलों के सेटेलमेन्ट की धनराशि 12 लाख 59 हज़ार 400 रही। इसी प्रकार भारतीय स्टेट बैंक के 27 माामलों का निस्तारण सेटेलमेन्ट द्वारा किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव बसनत कुमार जाटव ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में समस्त पीठासीन अधिकारियों, बैंक अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ओर से सक्रिय सहयोग प्रदान किया गया।