बहराइच स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार के लिए मील का पत्थर साबित होगी अभिनव पहल: अनुपमा जायसवाल


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


48 आंगनबाड़ी केन्द्रों को वितरित किये गये उपकरण

बहराइच आकांक्षात्मक जनपद बहराइच में स्वास्थ्य एवं पोषण के सूचकांकों में सुधार के लिए जहाॅ एक ओर नीति आयोग के निर्देशन में विभिन्न विभागों द्वारा संगठित एवं योजनाबद्ध प्रयास किये जा रहे हैं वहीं जिलाधिकारी शम्भु कुमार के नेतृत्व में मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान की अभिनव पहल पर जिला प्रशासन की ओर से ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम प्रधानों के माध्यम से ग्रामनिधि में उपलब्ध धनराशि से आॅगनबाड़ी केन्द्रों को संसाधन उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया गया है। ब्लाक चित्तौरा के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश की राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) बेसिक शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार, राजस्व एवं वित्त (एमओएस) श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने इस अभिनव पहल का श्रीगणेश करते हुए ब्लाक चित्तौरा अन्तर्गत 48 आॅगनबाड़ी केन्द्रों की कार्यकत्रियों को स्वास्थ्य जाॅच से सम्बन्धित उपकरणों एवं वज़न मशीन का वितरण किया तथा 03-03 गर्भवती महिलाओं व बच्चों को अन्नप्राशन कराया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने कहा कि जिला प्रशासन की यह पहल जनपद ही नहीं प्रदेश के लिए अनुकरणीय होगी। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश मुखिया योगी आदित्यनाथ से प्रेरणा लेते हुए जनपद के ग्राम प्रधान अपने-अपने क्षेत्र के सर्वांगीण विकास में ऐसा योगदान दें कि बहराइच का शुमार आकांक्षात्मक जनपद के बजाय देश के अग्रणी जनपदों में हो। श्रीमती जायसवाल ने स्वास्थ्य, आई.सी.डी.एस. विभाग व पिरामल फाउण्डेशन के प्रयासों की सराहना करते हुए ग्राम स्तर पर कार्य करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आहवान्ह किया कि यशोदा माॅ से प्रेरणा लेकर माॅओं और बच्चों के स्वास्थ्य के लिए कार्य करें ताकि जनपद के स्वास्थ्य एवं पोषण के सूचकांकों में गुणात्मक सुधार हो।
श्रीमती जायसवाल ने योजना में सहयोग प्रदान करने वाले ग्राम प्रधानों की सराहना करते हुए उनसे अपेक्षा की कि स्वास्थ्य व आई.सी.डी.एस. विभाग के सौजन्य से अपने-अपने ग्रामों में प्रभावी ढंग से ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस का आयोजन सुनिश्चित कराएं। श्रीमती जायसवाल ने अनूठी पहल के लिए जिलाधिकारी शम्भु कुमार व मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान के प्रयासों की सराहना की।
जिलाधिकारी ने सीडीओ श्री चैहान की इस अभिनव पहल की प्रशन्सा करते हुए सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिया कि वी.एच.एस.एन.डी. का आयोजन प्रभावीढंग से करायें ताकि सभी माॅ बच्चों की सुरक्षा कवच मिल सके। ग्राम स्तरीय सभी अधिकारी व कर्मचारी ड्यू लिस्ट के अनुसार कार्य करें। उन्होंने बताया कि प्रत्येक ग्राम प्रधान द्वारा रू. 14992=00 की लागत से उपलब्ध कराये जा रहे उपकरणों की मंशा यही है कि सभी लक्षित लोगों को स्वास्थ्य एवं पोषण का सुरक्षा कवच मिल सके। सीडीओ श्री चैहान ने ग्राम प्रधानों का आहवान्ह किया कि ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस के आयोजन में सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करें तथा एक अभिभावक की तरह ग्राम के सर्वांगीण विकास में सहयोग प्रदान करें।  
उल्लेखनीय है कि पोषण अभियान व आकांक्षात्मक जनपद कार्यक्रम के अन्तर्गत स्वास्थ्य, आई.सी.डी.एस. विभाग व पिरामल फाउण्डेशन केे संयुक्त प्रयास से समुदाय स्तर पर कार्य करते हुए (वी.एच.एस.एन.डी.) ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस को सुदृढ़ बनाने के निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। इस आयोजन के माध्यम से गोदभराई, अन्न प्राशन, बचपन दिवस, ममता दिवस, लाडली दिवस, किशोरी दिवस आदि सामुदायिक गतिविधियों के माध्यम से जनसामान्य को स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाएं/परामर्श प्रदान किया जा रहा है। इस अवसर पर डीपीएम एनएचएम डा. आर.बी. यादव ने भी अपने विचार रखे।
जनपद में ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस के प्रति लोगों में जागरूकता लाये जाने के उद्देश्य से प्रत्येक विकास खण्ड में 40 वी.एच.एस.एन.डी. सत्रों को माॅडल के रूप में विकसित किया जा रहा है। वी.एच.एस.एन.डी. सत्रों के आयोजन का पर्यवेक्षण एवं सुधारात्मक कार्यवाही के लिए प्रत्येक माह सीडीओ की अध्यक्षता में आयोजित होने वाली बैठकों में पाया गया कि वज़न की जाॅच हेतु वज़न मशीन की अनुपलब्धता, प्रसव पूर्व स्वास्थ्य जाॅच के लिए संसाधनों/आवश्यक उपकरणों की कमी तथा जाॅच के लिए गोपनीय स्थान के अभाव के कारण लोगों को आयोजन का भरपूर लाभ नहीं मिल पा रहा है।
मातृत्व, बाल स्वास्थ्य व पोषण सेवाओं के प्रदाता मंच के रूप में प्रत्येक माह में एक बार ग्राम स्तर पर आयोजित होने वाले ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस का भरपूर लाभ बिना किसी बाधा के आमजन को मिल सके इसके लिए अभिनव पहल करते हुए ग्राम प्रधानों के माध्यम से ग्रामनिधि में उपलब्ध धनराशि से आॅगनबाड़ी केन्द्रों को संसाधन उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया गया है। जिला प्रशासन की ओर से की गयी अभिनव पहल जनपद ही नहीं बल्कि प्रदेश के समस्त ग्राम प्रधानों के लिए अनुकरणीय होगी।
कार्यक्रम का संचालन उपायुक्त मनरेगा शेष मणि सिंह द्वारा किया गया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील कुमार श्रीवास्तव, बीडीओ चित्तौरा सी.बी. यादव, पीरामल फाउण्डेशन के पीयूष, बाल मुकुन्द शर्मा, अभिषेक कुमार द्वारा सक्रिय सहयोग प्रदान किया गया। इस अवसर पर सीएमओ डा. सुरेश सिंह, बीएसए एस.के. तिवारी व अन्य अधिकारी, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि कमलेश वर्मा सहित अन्य सम्बन्धित लोग मौजूद रहे।



आवश्यकता है पत्रकारों की संपादक नवेद आज़मी 09098350946