बहराइच प्रसाशन की सूझबूझ से निपटा विबाद रुपईडीहा थाने के मधुबनगांव में देर शाम तक दफनाई गई ताजिया


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


बहराइच बाबागंज थाना रुपईडीहा के मधुबन गांव में मंदिर में सोमवार की रात्रि में ला कर रखी गई मूर्तियां हटाने के बाद ही तसजिया दफनाया जाएगा की जिद पर एक सम्प्रदाय के लोगो ने ताजियों को दफनाने से मना कर दिया। ज्ञात हो मधुबन गांव में एक पुराना मंदिर है जिसमे अभी तक मूर्तियों की स्थापना नही हुआ था हिन्दुओ की ओर से लक्ष्मी,शंकर,गणेश, जी की मूर्तियां ला कर रखी गई तथा मूर्तियों को मंदिर में रख कर ताला बंद कर दिया था।दूसरे सम्प्रदाय के कुछ लोगो ने जिद किया कि मंदिर में बंद मूर्तियों को यदि हटाया नही गया तो ताजियों को दफन करने के लिए मधुबन कर्बला नही ले जाएंगे।धीरे धीरे शाम हो गया लेकिन ताजियों को नही उठाया गया। सूचना पा कर कोतवाल रुपईडीहा मनीष पांडे,दल बल के साथ गांव पहुंचे व गांव में दोनों सम्प्रदाय के लोगो को मनाते रहे। पुलिस अधिकारी, व उच्च अधिकारी भी आ गए तथा दोनों पक्षों को समझाया देर शाम तक विबाद नही निपटा। कोतवाल मनीष पांडे के प्रयास से देर शाम तक ताजिया निकालने को तजियादार राजी हो गए। दोनों पक्ष के बड़े बूढ़ों को बिठा कर आपसी सहमति के आधार पर विवाद निपटाया गया है। क्षेत्रीय लोग कोतवाल की सूझबूझ की प्रशंसा कर है।
बाबागंज से रावेन्द्र शर्मा की रिपोर्ट