अगर विकास किया था तो मीडिया से क्यो कर रही है भाजपा परहेज़।-कांग्रेस


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


(अब्दुल क़ाबिज़ खान )सिवनी, मध्यप्रदेश में कमलनाथ जी के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार बने लगभग 9 माह पूर्ण होने जा रहे है, इस समय अवधि में हम समय समय पर कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव के समय जो वचन दिये गये थे वह पूरे किये जा रहे है। इस बात से हम आप मिडिया के लोगो को इसलिए अवगत कराते है यह बात आम जनों तक पंहुचाई जा सकें। पिछले 15 वर्षो से भाजपा सरकार ने प्रदेश के लोगो से अनेक वादे किये किन्तु वह अपना कोई भी वादा
पूरा करने में सफल नही हो पाये यहि कारण है कि भाजपा के नेताओं द्वारा मिडि़या के सामने अपनी बात रखने का साहस नहीं जुटा पाये। ये बात जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजकुमार खुराना ने प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा।।

“अब तक कि गिनाई उपलब्धि”
प्रदेश में कमलनाथ जी की सरकार बनने के बाद यदि उनके हम कुछ महत्वपूर्ण फैसलो पर गौर करे तो हम देखेंगे कि किसान ऋणमाफी, गौशाला का निमार्ण, पिछडा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण, सामाजिक न्याय पेंशन दोगुनी, मुख्यमंत्री कन्या विवाह की राशि 48 हजार रूपय, युवा स्वाभिमान योजना के अंतर्गत युवाओं को रोजगार प्रशिक्षण एवं भत्ता, 150 प्रति यूनिट खपत बिजली बिल पर छूट, अचल सम्पत्ति पर 20 प्रतिशत कम किया गया, पत्नि
एवं पुत्री को मात्र 11 सौ रू. के स्टाम्प एवं पंजीयन शुल्क पर अब सम्पत्ति का स्वामी बनाया जा सकता है इस अल्प अवधि में नगरीय क्षेत्रों में 30 हजार से भी अधिक भूमि हीन व्यक्तियों को पट्टे वितरित किये गये है। केन्द्र सरकार द्वारा घोषित गेहॅू के समर्थन मूल्य 1840 रू. प्रति क्विटल से 160 रू. अधिक में प्रदेश सरकार द्वारा गेहॅू उपज खरीदी जायेगी इंडिया सीमेंट, एच.आई.जी. वंडर सीमेंट, प्रॉक्टर एण्ड गैंबल, श्रीराम पिस्टन आदि बड़े बड़े उद्योगो में प्रोत्साहन की राशि स्वीकृत कर दी गई, जिससे हजारो करोड़ रू. निवेश के साथ हजारों प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार सृजित होंगे। प्रदेश में केवल
उन्हीं उद्योंगो को निवेश, प्रोत्साहन और सब्सिडी आदि की छूट मिलेगी, जो
स्थानीय युवाओं को 70 प्रतिशत रोजगार देंगे।

“कमल नाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट”
खुराना ने कहा कि भोपाल इंदोर सिक्स लेन विश्वस्तरीय एक्सप्रेस-वे, जो कमलनाथ जी का ड्रीम प्रोजेक्ट भी है जो इस तरह से निर्मित किया जायेगा, जिसके किनारे इंटरनेशनल टाउनशिप के अलावा सेटेलाईट टाउन भी विकसित होगे, इसमें न केवल पडे़ पैमाने पर आर्थिक गतिविधिया बढ़ेगी बल्कि बडी संख्या में प्रदेश के युवाओं के
लिये रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे।

“सिवनी में उद्योग के लिए 2000एकड़ जमीन।”
कमलनाथ सरकार के प्रयासो से 8 महीनों के भीतर 94 कम्पनियों ने उद्योग शुरू करने हेतु आवेदन प्रस्तुत किये है। सिवनी जिले में उद्योग स्थापित करने के लिये लगभग 2 हजार एकड़ जमीन है। जहॉ पर उद्योगपति उद्योग
लगाने के इच्छुक है। किन्तु औद्योगिक नियम कठिन होने के कारण यहा उद्योग स्थापित नहीं हो पा रहे है,
खुराना ने आगे बताया कि इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथ जी से चर्चा कर औद्योगिक नियमों का सरलीकरण किये जाने का निवेदन करेंगे जिससे सिवनी जिले में नये उद्योग स्थापित हो सके, नगर में रिक्त पड़ी भूमि में आडोटोरियम व्यवसायिक काम्पलेक्स बनाये जाने के लिये भी प्रयास किये जायेगा।
“नियम विरूद्ध संचालित शेक्षणिक संस्थाओं पर लगाम लगाई जायेगी, प्रदेश में नई रेत नीति लागू होने के बाद रेत के दामों में कमी होगी, भ्रष्टाचार में लिप्त किसी भी अधिकारी कर्मचारी को बक्सा नही जायेगा। पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट एवं एड़वोकेट प्रोटेक्शन एक्ट के लिये भी सरकार गंभीर है। “.