Truck owner ही निकला अपने ट्रक का चोर


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


सिवनी जिले के डूंडासिवनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस ने ट्रक चोरी की झूठी रिपोर्ट लिखाकर गुमराह किये जाने के मामले का बेहद सनसनी खेज खुलासा किया है।
ये एक ऐसा प्रकरण है, जहाँ पुलिस जांच के बाद प्रार्थी ही आरोपी बन गया है। मामले की गुत्थी सुलझाने में सिवनी पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी यही नही आरोपी अनीस खान ने मामले को इतना पेचीदा करदिया था कि सिवनी पुलिस की स्पेशल टीम को कई शहर और राज्यो की ख़ाक भी छाननि पड़ी जिसके बाद मामले की तह पर जाकर पुलिस को इस अपराध और साजिश का खुलासा करने में सफलता हासिल हुई।।
आज सिवनी पुलिस कंट्रोल रूम में एक प्रेस कांफ्रेंस कर इस मामले की गुत्थी की परत दर परत खोली गई प्रेस कांफ्रेंस में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि डूंडासिवनी थाना में 29 मार्च 2019 को अनीस खान गुरूनानक वार्ड निवासी ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसका 10 चका ट्रक क्रमांक एमपी 20 एचबी 2952 जो कि 28 व 29 मार्च की रात को चोरी हो गया है। इस रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 379 के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच प्रारंभ की थी।
इस मामले में डूंडासिवनी पुलिस ने ट्रक चोरी जाने के मामले में अनीस खान से पूछताछ की, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी, इसी बीच अनीस खान ने जांच करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों की झूठी शिकायत पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को कर डाली तथा जांच को प्रभावित करने का प्रयास भी किया था।
डूंडासिवनी पुलिस को जांच के दौरान सूचना मिली कि प्रार्थी अनीस खान द्वारा उक्त ट्रक को कलर कर हुलिया व नम्बर प्लेट बदलकर चलवाया जा रहा है।इस सूचना पर संपत्ति स्क्वॉड के दल को सिवनी, छिन्दवाड़ा, बालाघाट, नरसिंहपुर, जबलपुर, नागपुर तथा अमरावती सहित अनेक स्थानों से साक्ष्य जुटाने के आदेश दिये गये। जांच के दौरान चौकाने वाली बातें सामने आयीं कि अनीस खान ने लगभग 1 साल पहले अपने ससुर अज्जु खान कुंजड़ी मोहल्ला सिवनी निवासी से एक 10 चका ट्रक एमपी 20 एचबी 1086 खरीदकर स्वयं के नाम से पंजीयन कराया था। ट्रक काफी पुराना था, जिसे अनीस खान ने सिवनी के कबाड़ी तन्नू खान के यहाँ ले जाकर कटवा दिया एवं काटे गये ट्रक के कागजात आरटीओ कार्यालय में जमा कराने की बजाय स्वयं के पास रख लिये।
इसी बीच अनीस खान ने कोटक महिन्द्रा फाइनेंस कंपनी से फाइनेंस लेकर जबलपुर के संदीप राजपूत का 2011 मॉडल 10 चका ट्रक एमपी 20 एचबी 2952 को डेढ़ लाख रूपये नगद देकर तथा फाइनेंस की किश्तें 9 लाख 50 हजार रूपये प्रतिमाह जमा करने की शर्त पर तथा इस ट्रक के चोरी होने के रिपोर्ट डूंडासिवनी थाने में दर्ज कराई थी।
डूंडासिवनी पुलिस द्वारा घटना के संबंध में अनीस खान से कथन में बताया कि श्रीराम फायनेंस कंपनी के मैनेजर के द्वारा बोरीकला निवासी अफसर खान की बरघाट थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। अफसर खान और अनीस खान के आपस में तार जुड़े होने से अफसर खान के पास चल रहे ट्रक एमपी 20 एचबी 1086 की तस्दीकी की गयी, जहाँ अफसर खान ने बताया कि अनीस खान के साथ मिलकर खुद के ट्रक सीजी 04 जेए 5008 को टेम्पर कर उसकी किश्त ना पटाना पड़े, इसलिये उसका ट्रक क्रमांक एमपी 20 एचबी 1086 की पंचिंग कर दी गयी। इस मामले में बरघाट थाने में अफसर व अनीस के विरूद्ध धारा 420, 34 का प्रकरण दर्ज किया गया।

अब्दुल क़ाबिज़ खान की विशेष रिपोर्ट।।