बहराइच आईजीआरएस प्रकरण डिफाल्टर श्रेणी में पाये जाने पर होगी कार्यवाही: डीएम


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


बहराइच  जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान आईजीआरएस के अन्तर्गत मुख्यमंत्री, जिलाधिकारी, आनलाइन व पीजी पोर्टल के माध्यम से प्राप्त विभिन्न विभागों से सम्बन्धित काफी संदर्भ डिफाल्टर की श्रेणी में पाये जाने पर कड़ी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि किसी भी दशा में आईजीआरएस के अन्तर्गत प्राप्त संदर्भो को डिफाल्टर की श्रेणी में न रखा जाये। अन्यथा की स्थिति में सम्बन्धित विभागीय अधिकारी की जिम्मेदारी निर्धारित करते हुए प्रभावी कार्यवाही की जायेगी।
उन्होने समीक्षा में पाया कि उप निदेशक कृषि, जिला पूर्ति अधिकारी, एलडीएम, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत खण्ड-3, मुख्य विकास अधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट, तहसीलदार बहराइच, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी सहित अन्य अधिकारियों के स्तर पर काफी संख्या में डिफाल्टर संदर्भ पाये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि तत्काल डिफाल्टर संदर्भो का निस्तारण सुनिश्चित कराये। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि अपने विभाग से सम्बन्धित निचले स्तर पर आईजीआरएस के लम्बित संदर्भ की स्वयं अपने स्तर से गहन समीक्षा कर समयान्तर्गत निस्तारण सुनिश्चित कराये।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अरविन्द चैहान, अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच मनीष सिंह, उप जिलाधिकारी सदर रामचन्द्र यादव, महसी एस.एन, त्रिपाठी, पयागपुर बाबूराम, मोतीपुर ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, सीओ पयागपुर नरेश सिंह, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा बलवन्त सिंह, डीसी मनरेगा शेषमणि सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।