तीन दिवसीय डोंगरगांव लोक मड़ई एवं कृषि मेले का हुआ समापन


Advertisement

http://indiafactnews.co.in पोर्टल में पब्लिश न्यूज़ की जिम्मेदारी स्वयं संवादाता की होगी। इसके लिए एडिटर जिम्मेदार नहीं होगा नहीं न्यूज़ पब्लिश करने के लिए एडिटर की अनुमति आवश्यक है।


प्रभारी मंत्री श्री अकबर ने भविष्य में लोक मड़ई के लिए
राज्य सरकार की ओर से हर संभव सहयोग का किया वादा
राजनांदगांव 18 फरवरी 2020। वन मंत्री एवं जिले के प्रभारी श्री मोहम्मद अकबर ने विकासखंड मुख्यालय डोंगरगांव में आयोजित लोक मड़ई एवं कृषि मेले के लिए शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कल रात लोक मड़ई के समापन समारोह में कहा कि लोक मड़ई साल दर साल भव्यता के साथ आयोजित होती रहे। लोक मड़ई में इसी तरह कृषि मेले तथा छत्तीसगढ़ के लोक संस्कृति पर आधारित कार्यक्रम और अधिक आकर्षक ढंग से होने चाहिए। उन्होंने कहा कि लोक मड़ई एवं कृषि मेले के आयोजन के लिए भविष्य में राज्य सरकार द्वारा पूरा सहयोग  किया जाएगा। मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉलों का अवलोकन किया। प्रभारी मंत्री ने मंच के पास मड़ई और अन्य देवी-देवताओं की पूजा अर्चना कर समापन समारोह का शुभारंभ किया। लोक मड़ई एवं कृषि मेले की समापन संध्या में कलाकारों ने मनमोहक छत्तीसगढ़ी कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।
डोंगरगांव विधायक एवं लोक मड़ई के संरक्षक श्री दलेश्वर साहू ने कहा कि लोक मड़ई में इस बार अतिथि के रूप में प्रदेश सरकार के मंत्रियों की उपस्थिति से आम दर्शकों का उत्साहवर्धन हुआ। कलाकारों ने भी निपुणता से कार्यक्रम प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लिया। उन्होंने लोक मड़ई एवं कृषि मेले के सफल आयोजन के लिए व्यवस्था से जुड़े विभागीय अधिकारियों-कर्मचारियों और अन्य लोगों के प्रति आभार प्रकट किया।
लोक मड़ई के तीनों दिन विभागीय स्टॉलों में शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी लेने लोगों का हुजुम उमड़ पड़ा। कृषि विभाग, वन विभाग, उद्यानिकी विभाग, मछलीपालन, पशुपालन, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, क्रेड़ा,छत्तीसगढ़ ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान), जल संसाधन, मनरेगा सहित अन्य विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉल हर समय दर्शकों की अच्छी भीड़ रही। कृषि विभाग के स्टॉल में जैविक पद्धति से उत्पादित चावल, कोदो, कुटकी, जैविक दवा एवं खाद तथा उद्यानिकी विभाग द्वारा लगाई गई नर्सरी की प्रदर्शनी में लोगों ने खास रूचि दिखाई। कृषि विभाग के स्टॉल में जैविक उत्पादों के फायदों के बारे में विशेष रूप से जानकारी दी गई। सुराजी ग्राम योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी के बारे में लोगों को बताकर जागरूक किया गया। वन विभाग के स्टॉल में स्व सहायता समूहों द्वारा लघु वनोपज से तैयार उत्पादों को प्रदर्शित किया गया। छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (के्रडा) के स्टॉल में सौर सुजला योजना के संबंध में जानकारी देते हुए सोलर पंप का प्रदर्शन भी किया गया। स्कूल शिक्षा विभाग के स्टॉल में बच्चों द्वारा तैयार विज्ञान मॉडल की प्रदर्शनी लगाई गई थी।
इस अवसर पर मोहला-मानपुर के विधायक श्री इंद्रशाह मंडावी, अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री हफीज खान, कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक श्री बीएस धु्रव, वनमंडलाधिकारी  श्री बीपी सिंह, अपर कलेक्टर श्री ओंकार यदु सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में गणमान्यजन उपस्थित थे।



आवश्यकता है पत्रकारों की संपादक नवेद आज़मी 09098350946